Opp. HDFC Bank A.B. Road manglya Indore M.P. Bharat 452001

09200910111 info@vaap.science

अपना अनुसंधान और अध्ययन पत्र या कोई वैदिक शोधपत्र प्रकाशित करें

क्या आप तैयार हैं? तो शुरू करें

वैदिक अनुसंधान एवं अध्ययन पीठ (VAAP.science)

।।याति स्वयं प्रख्यार्पितगुणैः।।

हिंदू मान्यताओं के वैज्ञानिक रहस्य

हम भारतीय संस्कृत के वैज्ञानिक रहस्य को जानने और सत्यापित करनें की कोशिश करते हैं

स्वस्थ इतिहास

हम स्वदेशी व स्वस्थ इतिहास बताने का प्रयास करते हैं जो सत्य और तथ्यपूर्ण हो

स्वदेशी स्वीकार विदेशी का बहिष्कार

केवल स्वदेशी नीतियों से ही देश आगे बढ सकता है और भारत सोने की चिडिया बन सकता है।

अध्ययन कक्ष

हम सभी उपभोक्ताओं को निः शुल्क संजालीय अध्ययन कक्ष उपलब्ध करवाते हैं जंहा आप हमारे प्रमाणिक दस्तावेज और पुस्तकें पढ सकते हैं।

बारे में

वैदिक अनुसंधान एवं अध्ययन पीठ एक ऐसा संगठन है जो वैदिक धर्म (जैन हिंदू सिख बौद्ध) से संबंधित नियमों और विज्ञान को पुनः सत्यापित एवं स्थापित करने में संघर्षरत है।इस संगठन द्वारा वैदिक धर्म से संबधित तथ्यों का परीक्षण किया जाता है तथा वैदिक धर्म की वैज्ञानिकता जनता तक पहुचांने का प्रयास किया जाता है इनमें आयुर्वेद, वेद, नियम , परम्परा एवं संस्कारों का वैज्ञानिक कारण आदि शामिल है जिन्हें आप भी ई-मेल द्वारा आवेदन कर प्राप्त कर सकतें हैं ।यदि आप हमारे संगठन से जुडना चाहते हैं तो www.dostsabha.com के देववाणी समूह को ज्वाइन करें या अपना नाम पता ईमेल व फोन नं. के साथ नीचे दिये गए पते पर ईमेल करें। हमारे संगठन का सपना सभी क्रांतिकारीयों पं. चंद्रशेखर तिवारी "आजाद", नाना साहेबपेशवा,भगत सिंह,विवेकानंद एवं राजीव दिक्षित जी के सपने को पूरा करना है। यदि आप कोई शोधपत्र जो वैदिक धर्म से संबंधित हो तो आप हमें ई-मेल के जरिये भेजकर प्रकाशित करवा सकते हैं पुरानें दस्तावेज चित्र शिलालेखों की तस्वीर या कोई ऐसा साक्ष्य भेज सकते हैं हमारा ईमेल है -in@devwani.org या दूरभाष - ९४०६८३६६३६ पर संपर्क करें।

हमारी सेवाएं

वैदिक अनुसंधान एवं अध्ययन पीठ एक ऐसा संगठन है जो वैदिक धर्म (जैन हिंदू सिख बौद्ध) से संबंधित नियमों और विज्ञान को पुनः सत्यापित एवं स्थापित करने में संघर्षरत है।

संगठन द्वारा वैदिक धर्म से संबधित तथ्यों का परीक्षण किया जाता है

वैदिक धर्म की वैज्ञानिकता जनता तक पहुचांने का प्रयास किया जाता है इनमें आयुर्वेद, वेद, नियम , परम्परा एवं संस्कारों का वैज्ञानिक कारण आदि शामिल है जिन्हें आप भी ई-मेल द्वारा आवेदन कर प्राप्त कर सकतें हैं ।

संगठन का सपना सभी क्रांतिकारीयों के सपने को पूरा करना है

हमारे संगठन का सपना सभी क्रांतिकारीयों पं. चंद्रशेखर तिवारी "आजाद", नाना साहेबपेशवा,भगत सिंह,विवेकानंद एवं राजीव दिक्षित जी के सपने को पूरा करना है।

संस्कृत और वैदिक सभ्यता को पुनः स्थापित करना

भारत में स्वस्थ सवदेशी व्यवस्था को पुनः स्थापित करना एक लक्ष्य है आप पंजियन कर सहयोग करें।

शोधपत्र जो वैदिक धर्म से संबंधित हो

शोधपत्र जो वैदिक धर्म से संबंधित हो उनको एक जगह प्रकाशित करना ताकी सभी को सुगमता से उपलब्ध हो सके

Services

स्वदेश और स्वधर्म अपनाकर आगे बढें

यदि यूरोपिय अरबी लोग अपने देश और धर्म को शीर्ष स्थान दे सकते हैं तो हम भी "कृणवन्तो विश्वम् आर्यम् " को विश्व में लागू कर सकते हैं।

शोधपत्र या दस्तावेज प्रकाशित करें

नाना साहेबपेशवा

वह दिन दूर नही जब आजादी का सूर्य उगेगा और हम सारा काम मातृभाषा में कर पाएंगे।-नाना साहेब के घोषणा पत्र की पहली लाइन

Read More

पं. चंद्रशेखर तिवारी "आजाद"

आज़ाद नाम था उसका आज़ादी का मतवाला था थर-थर कांपते थे शत्रू भी ऐसा वो हिम्मत वाला था |

Read More

राजीव दिक्षित

केवल स्वदेशी नीतियों से ही देश आगे बढ सकता है और भारत सोने की चिडिया बन सकता है।

Read More

संपर्क में रहें

यदि आप हमसे वार्तालाप करना चाहते हैं तो संपर्क करें

अभी संपर्क करें

नवीन लेख

slide

भाई दूज (यम द्वितीया) विशेष

भाई दूज (यम द्वितीया) विशेष ??????????? पौराणिक महत्व ????? शास्त्रों के अनुसार भाई को यम द्वितीया भी कहते हैं इस दिन बहनें भाई को तिलक लगाकर उन्हें लंबी उम्र का आशीष देती हैं और इस दिन मृत्यु के देवता यमराज का पूजन किया जाता है  ब्रजमंडल में इस दिन बहनें […]

slide

तुलसी कौन थी?

तुलसी कौन थी?     तुलसी(पौधा) पूर्व जन्म मे एक लड़की थी जिस का नाम वृंदा था, राक्षस कुल में उसका जन्म हुआ था बचपन से ही भगवान विष्णु की भक्त थी.बड़े ही प्रेम से भगवान की सेवा, पूजा किया करती थी.जब वह बड़ी हुई तो उनका विवाह राक्षस कुल […]

slide

मंगली योग अथवा मंगल दोष

?मंगली योग अथवा मंगल दोष? ××××××××××××××××××××××××                               हिन्दू ज्योतिष में मंगल को लग्न, द्वितीय भाव में  चतुर्थ, सप्तम, अष्टम और द्वादश भाव में दोष पूर्ण माना जाता है। इन भावो में उपस्थित मंगल मंगली दोष का […]

slide

पंचक

भारतीय ज्योतिष में पंचक को अशुभ माना गया है. इसके अंतर्गत धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तरा भाद्रपद, पूर्वा भाद्रपद व रेवती नक्षत्र आते हैं. पंचक के दौरान कुछ विशेष काम करने की मनाही है.   पंचक में न करें ये 5 काम ????????   1. पंचक में चारपाई बनवाना भी अच्छा नहीं […]

slide

पानी तेल या दूध का कुल्ला करने के चमत्कारिक फायदे

पानी, तेल या दूध का कुल्ला करने के चमत्कारिक फायदे हमारी परम्पराएँ और घरेलु ज्ञान इतना ज़बरदस्त है कि अगर हम माने तो बिना दवा के भी स्वस्थ रह सकते हैं। ऐसी ही एक विधि से है जिसका नाम है कुल्ला.! कुल्ला एक ऐसी विधि है जिससे आप बिना दवा […]

slide

गजेन्द्र मोक्ष का महत्वगजेन्द्र मोक्ष की पौराणिक कथा

सनातन धरम ???????????????????? ??????????????????गजेन्द्र मोक्ष का महत्वगजेन्द्र मोक्ष की पौराणिक कथा महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित भगवत पुराण के तीसरे अध्याय में मिलती है,इसे सुखसागर के नाम से भी जाना जाता है. इसेपढ़ने से पित्तर दोष से मुक्ति मिलती है. जिन लोगो परकर्ज चढ़ा है या वह किसी ऎसी समस्या से […]

slide

संस्कृत शब्दाः

?क्रिकेट क्रीडा संबंधी संस्कृत शब्दाः क्रिकेट–कन्दुक क्रीडा क्षिप्या — पिच अपकन्दुकम् — वाइटबाल अपवेध: –मिस(चूक) अवक्षिप्तम् — शार्टपिच कन्दुकम् — गेंद गृहीत: — कैच आऊट स्तोभित: — स्टम्पड धाविन्नष्टम् — रन आऊट गेन्दित: — बोल्ड पादबाधा — L B W वेध: — हिट चतुष्कम् — चौका षटकम् –छक्का धावनम् –रन […]

slide

भोजन सम्बन्धी कुछ नियम

भोजन सम्बन्धी कुछ नियम सनातन धर्म के अनुसार भोजन ग्रहण करने के कुछ नियम है ? १ पांच अंगो ( दो हाथ ,v २ पैर , मुख ) को अच्छी तरह से धो कर ही भोजन करे !   २. गीले पैरों खाने से आयु में वृद्धि होती है ! […]

slide

वायुपुराणम्

वायुपुराणम् {pdf=https://vedpuran.files.wordpress.com/2016/07/vayu-puran.pdf|100%|300|google}     इस पुराण में शिव उपासना चर्चा अधिक होने के कारण इस को शिवपुराण का दूसरा अंग माना जाता है, फिर भी इसमें वैष्णव मत पर विस्तृत प्रतिपादन मिलता है। इसमें खगोल, भूगोल, सृष्टिक्रम, युग, तीर्थ, पितर, श्राद्ध, राजवंश, ऋषिवंश, वेद शाखाएं, संगीत शास्त्र, शिवभक्ति, आदि का […]

slide

शब्दकोशः

{source}<!– You can place html anywhere within the source tags –><object type=”text/html” data=”http://spokensanskrit.de/index.php” width=”900″ height=”700″ style=”padding:10px”></object> <script language=”javascript” type=”text/javascript”> <script language=”javascript” type=”text/javascript”>// You can place JavaScript like this</script><?php// You can place PHP like this?>{/source}